Home

सहकारी सिध्दांत

सितम्बर 1995 को इंग्लैंड के मेनचेस्टर में आयोजित अन्तरास्ट्रीय सहकारी महासंघ की बैठक में नवीन सहकारी सिध्दान्तो को मान्यता प्रदान की गई | जो इस प्रकार है

  • स्वैच्छिक एवं खुली सदस्यता
  • लोकतान्त्रिक सदस्य नियंत्रण
  • सदस्यों की आर्थिक भागीदारी
  • स्वायत्ता एवं स्वतंत्रता
  • शिक्षा प्रशिक्षण एवं सुचना
  • सहकारी संस्थाओ में परस्पर सहयोग
  • समुदाय के प्रति निष्ठा
उपलब्ध पाठ्यक्रम

नियमित सत्र :- सहकारी प्रबंध पत्रोंपाधि

अल्पावधि पाठ्यक्रम :-

  • प्राथमिक सहकारी कृषि एवं साख समितियों के लिए समरूप लेखन प्रणाली
  • शिक्षित बेरोजगारों एवं स्व सहायता समूहों के लिए कौशल विकास योजना
  • सहकारी एवं साख समितियों के निर्देशकों के लिए नेतृत्व विकास
  • संग्रहण एवं भंडारण प्रबंधन
आगे पढ़े …
उपलब्ध पाठ्यक्रम
  • सदस्य सहकारी शिक्षा योजना
  • सहकारी प्रशिक्षण योजना
  • प्रचार – प्रसार एवं प्रकाशन
  • शोध एवं ग्रंथालय
  • सम्मेलन
आगे पढ़े …
Scroll to top