Go to home location map Send Admission Enquiry

 cgscul
अधिनियम और नियम
  छत्‍तीसगढ् सहकारी सोसाइटी अधिनियम, 1960
  धारा 1 संक्षिप्‍त नाम विस्‍तार तथा प्रारंभ
  धारा 2 परिभाषाऍं
  धारा 3 रजिस्ट्रार तथा अन्य अधिकारी
  धारा 4 सोसाइटियां जो रजिस्‍टीक़त की जा सकेगी
  धारा 5 परिसीमित या अपरिसीमित दायित्‍व सहित सोसाइटियो का रजिस्‍टीकरण
  धारा 6 रजिस्‍टीकरण की शर्ते
  धारा 7 रजिस्‍टीकरण के लिए आवेदन
  धारा 8 कतिपय प्रश्‍नो को विनिश्‍चत करने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 9 रजिस्‍टीकरण
  धारा 10 सोसाइटियों का वर्गीकरण
  धारा 11 सोसाइटी की उपविधियों का संशोधन
  धारा 12 उपविधियों में संशोधन के लिए निर्देश देने की श‍क्ति
  धारा 13 नाम की तब्‍दीली
  धारा 14 कतिपय प्रमाण - पत्रों का निश्‍चायक साक्ष्‍य होना
  धारा 15 सोसायटी के दायित्‍व का परिसी‍मित से अपरिसीमित में या अपरिसीमित से परिसीमित में तब्‍दील किया जाना
  धारा 16 सोसाइटियों का पुर्नगठन
  ध्‍ाारा 16 क सोसाइटियों द्वारा सहयोग
  ध्‍ाारा 16 ख सोसाइटियों की भागीदारी
  ध्‍ाारा 16 ग लोक हित में पुर्नगठन योजना बनाने को राज्‍य सरकारी की शक्ति
  धारा 17 क अधिस्‍थगन के अधीन बैकों की कार्यवाही तथा उनका दायित्‍व
  धारा 17 ख डिपाजिट इन्‍श्‍योरेन्‍स कारपोरेशन को प्रतिसंदाय करने का नवीन बैंकों का दायित्‍व
  ध्‍ाारा 18 रजिस्ट्रीकरण का रद्द किया जाना
  धारा 19 क सदस्‍य की निर्हताएं
  धारा 19 कक बोर्ड की सदस्‍यता के लिये और प्रतिनिधित्‍व के लिये निरर्हता
  ध्‍ाारा 19 ख पश्‍चात़वर्ती निर्योग्‍ताओं का प्रभाव
  ध्‍ाारा 19 ग सदस्‍यों का निष्‍कासन
  धरा 19 ङ सदस्‍यों आदि की शिक्षा
  धारा 19 घ विलोपित
  धारा 20 नाममात्र के सदस्‍य
  धारा 21 जब तक सम्‍यक संदाय न कर दिये जाए, सदस्‍यता के अधिकारों का प्रयोग नहीं किया जाएगा
  ध्‍ाारा 22 सदस्‍यों के मत
  धारा 23 मत का प्रयोग करने की रीति
  धारा 24 किसी सदस्‍य द्वारा अंशपूंजी धारण करने पर निर्बन्‍धन
  धारा 25 अंशो या हित अंतरण पर निर्बन्‍धन
   धारा 26 सदस्‍य की म़त्‍यु हो जाने पर हित का अंतरण
  ध्‍ाारा 27 अंश या निक्षेप या हित कुर्की के दायित्‍वाधीन नहीं होगा
  धारा 28 पुस्‍तकें आदि देखने के सदस्‍यों के अधिकार
  धारा 29 भूतपूर्व सदस्‍य या मृत सदस्‍य की सम्‍पदा का दायित्‍व
  धारा 30 सदस्‍यों का दिवाला
  धारा 31 सोसाइटियों निगमित निकाय होंगी
  ध्‍ाारा 33 सदस्‍यों का रजिस्‍टर
  धारा 34 सोसायटी की पुस्‍तकों में की प्रविष्टियों का सबूत
  धारा 34 क सोसायटी सदस्‍यों को पासबुक देंगी
  धारा 35 लिखतों के अनिवार्य रजिस्‍टीकरण से छूट
  धारा 36 उधार लेना
  धारा 37 उधारों के दिये जाने पर निर्बन्‍धन
  धारा 37 क सोसायटी मूल से अधिक ब्‍याज वसूल या प्राप्‍त नहीं करेगी
  धारा 38 सदस्‍येतर व्‍यक्तियों के साथ अन्‍य संव्‍यवहारों पर निर्बन्‍धन
  ध्‍ाारा 39 सदस्‍यों के अंश या हित की बाबत भार एवं मुजराई
  धारा 40 कतिपय अास्तियों पर सोसाइटी का पूर्विक दावा
  धारा 41 कतिपय अास्तियों पर सहकारी सोसाइटियों का प्रथम भार
  धारा 41 क स्‍थावर सम्‍पति का अर्जन तथा व्‍ययन करने का सोसायटी अधिकार
  धारा 42 कतिपय दशाओं में सोसायटी के दावे पूर्ति करने के लिए वेतन में से कटाैती
  धारा 43 निधियां तथा ला भ
  धारा 43 क लाभों का विनियोजन
  धारा 43 ख घाटे के लिये दायित्‍व
  धारा 44 निधियों का विनियोजन
  धारा 45 सोसाइटियों को राज्‍य सहायता का मंजूर किया जाना
  ध्‍ाारा 46 कर्मचारियों की भविष्‍य निधि
  धारा 47 संघीय सोयायटी से संबंध किये जाने के निर्देश देने की शक्ति
  धारा 47 क शीर्ष सोसाइटी
  धारा 48 सोसाइटी में का अंतिम प्राधिकार
  धारा 48 ग बोर्ड की शक्तियां
  धारा 48 क विनिर्दिष्‍ट पद धारण करने के लिए निरहर्ताएं
  धारा 48 ख प्रतिनिधि एवं प्रत्‍यायुक्‍त
  धारा 49 वार्षिक साधारण सम्मिलन
  धारा 49 ग लोकहित आदि में निदेश देने की सरकार की शक्ति
  धारा 49 घ विनियम बनाने के निदेश देने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 49 ड; कतिपय परिस्‍िथतियों में प्रबंध संचालक और मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी की नियुक्ति
  धारा 49 ख बोर्ड की कार्यवाहियों का उत्‍तराधिकारी बोर्ड द्वारा बातिलीकरण
  धारा 49 क विलोपित
  धारा 50 विशेष साधारण सम्मिलन
  धारा 50 क सोसायटी की बोर्ड या प्रतिनिधि या प्रत्‍यायुक्‍त के निर्वाचन में अभ्‍यर्थी या मतदाता होने के लिए निरर्हता
  धारा 50 कक विलोपित
  धारा 51 कार्यो का विधिमान्‍यकरण
  धारा 52 सरकारी नाम निर्देशितियों को नियुक्‍त करने की शक्ति
  धारा 52 क विलोपित
  धारा 52 ख विलोपित
  धारा 53 बोर्ड का अतिष्‍ठान
  धारा 53 क कार्यभार ग्रहण किया जाना
  धारा 53 ख कतिपय परिस्‍ि‍थतियों में किसी सोसायटी के किसी अधिकारी को हटाने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 54 प्रबंधकों, सचिवों तथा अन्‍य अधिकारियों की नियुक्ति
  धारा 55 सोसाइटियों में के नियोजनों की शर्तो का अवधारण करने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 56 बाध्‍यता का पालन कराने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 57 अभिलेखों आदि के अभिग्रहण करने की रजिस्‍टार की शक्ति
  धारा 57 क अभिलेख तथा संपत्ति का कब्‍जा लेना
  धारा 58 लेखाआें की संपरीक्षा
  धारा 58 क संपरीक्षा बोर्ड
  धारा 58 ख किसी सोसायटी को हुए नुकसान को पूरा करने के लिए प्रक्रिया
  धारा 59 जांच
  धारा 59 क जांच में सहायता करने का कतिपय व्‍‍यक्तियों का कर्तव्‍य
  धारा 60 सोसाइटी की पुस्‍तकों का निरीक्षण
  ध्‍ाारा 61 त्रुटियों की परिशुद्धि
  धारा 62 जांच के खर्चे
  धारा 63 क कार्यवाहियों आदि पर व्‍यय
  धारा 63 विलोपित
  धारा 64 विवाद
  धारा 65 परिसीमा
  धारा 66 विवाद का निपटारा
  धारा 67 विवादों का निपटारे के लिए प्रक्रिया तथा रजिस्‍टार, उसके नामनिर्दिष्‍ट व्‍यक्ति या नामनिर्दिष्‍ट व्‍यक्तियों के बोर्ड की शक्ति
  धारा 68 अधिनिर्णय के पूर्व कुर्की
  धारा 69 सोसाइटियों का परिसमापन
  धारा 69 क सहकारी बैंक का समापन
  धारा69 ख बीमाक्रित् बैंक के मामले में डिपाजिट इन्‍श्‍योरेन्‍स कारपोरेशन की प्रतिपूर्ति
  धारा 70 समापक की नियुक्ति
  धारा 70 क समापक का नियंत्रण
  धारा 71 समापक की शक्तियां
  धारा 72 समापित सोसाइटियों की अधिशेष आ‍स्तियों का व्‍ययन
  धारा 73 शब्‍द ''सहकारी'' के प्रयोग का प्रतिष्‍ोध
  धारा 74 अपराध
  धारा 75 अपराधों के लिए शास्तियां
  ध्‍ाारा 76 अपराधों का संंज्ञान
  ध्‍ाारा 77 छ;ग; राज्‍य सहकारी अधिकरण
  धारा 78 पुनरीक्षण
  धारा 79 कतिपय मामलों में अपील या पुनर्विलोकन न होना
  धारा 80 मामलों का अंतरण या प्रत्‍याहरण
  धारा 80 ख अंतवर्ती आदेश करने की शक्ति
  धारा 80 ग आदेशों के निष्‍पादन का रोका जाना
  धारा 80 घ लंबित मामलों का अंतरण
  धारा 81 सरकार को शोध्य राशियों की वसूली
  धारा 81 क सहकारी सोसायटी के व्‍यतिक्र मी सदस्‍यों के विरूद्ध कार्यवाही करने की किसी वित्‍तदायी बैंक की शक्ति
  धारा 82 न्यायालयों की अधिकारिता का वर्जन.
  धारा 83 खर्चे की वसूली
  धारा 84 भार का प्रवर्तन.
  धारा 86 सूचना की तामील
  धारा 87 रजिस्ट्रार तथा अन्य अधिकारी आदि, लोकसेवक होंगे.
  धारा 88 सद् भावपूर्वक किये गये कार्यो के लिये परिृाण
  धारा 89 सिवि‍ल न्‍यायालयों की शक्तियां
  धारा 90 रजिस्ट्रार या उसके द्वारा सशक्त किया गया व्यक्ति कतिपय प्रयोजनों के लिए सिविल न्यायालय होगा.
  धारा 91 विलोपित
  धारा 92 कंपनी अधिनियम लागू नहीं होगा.
  धारा 93 कतिपय अन्य अधिनियम सहकारी सोसाइटियों को लागू नहीं होंगे.
  धारा 94 वादाे में सूचना देना आवश्‍यक होगा
  धारा 95 नियम बनाने की शक्ति
  धारा 96 निरसन तथा व्‍याव़तिया

 सहकारी प्रबंध में पत्रोपाधि पाठ्यक्रम में प्रवेश हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते हैं. अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें सहकारी प्रशिक्षण केंद्र १४, पार्क स्ट्रीट ३,चौबे कॉलोनी रायपुर, फोन न.0771 4052855 ,प्राचार्य 9907909168 एवं सहकारी प्रशिक्षण केंद्र, महामाया चौक के पास, कोनी रोड, शिव घाट चौक के सामने, बिलासपुर, फोन न. 07752213855 ,प्राचार्य 9425536696